आगामी लोकसभा चुनाव को निष्पक्ष और निर्भिकता से कराने के लिए हरसंभव प्रयास किये जाएंगे। जिले में चुनाव की तैयारी पूर्ण कर ली गई है। सभी टीमों का गठन कर लिया गया है। चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू कर दी गई। इसके साथ ही निषेधाज्ञा भी लागू कर दी गई है।

1950 पर करें कोईभी शिकायत

धारा १४४ लागू.


11626 शस्त्र लायसेंसों में 1600 शस्त्र जमा

19500 दिव्यांग मतदाताओं को मतदान कराने के लिए आयोग ने पिक एंड ड्राप के लिए व्यवस्था

पीलीभीत जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आश्वस्त किया है कि आगामी लोकसभा चुनाव को निष्पक्ष और निर्भिकता से कराने के लिए हरसंभव प्रयास किये जाएंगे। जिले में चुनाव की तैयारी पूर्ण कर ली गई है। सभी टीमों का गठन कर लिया गया है। चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू कर दी गई। इसके साथ ही निषेधाज्ञा भी लागू कर दी गई है।आज शाम गांधी सभागार में जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव और पुलिस अधीक्षक मनोज सोनकर ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए निर्वाचन आयोग के निर्देशों और की गई तैयारियों की जानकारी दी। जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने जानकारी देते हुए बताया कि जिले में 23 अप्रैल को मतदान होगा। इसके लिए 28 मार्च को अधिसूचना जारी की जाएगी। नामांकन की अंतिम तिथि चार अप्रैल होगी। पांच अप्रल को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी। आठ अप्रैल को नाम वापसी की जाएगी। यहां 23 अप्रैल को मतदान होगा। निर्वाचन आयोग के आदेश पर 23 मई को मतगणना होगी। उन्होंने बताया कि जिले में आदर्श आचार संहिता के साथ ही धारा 144 भी लागू कर दी गई है। उन्होंने बताया कि जिन कार्यो के टेंडर हो गए है। और उनका वर्क आर्डर जारी कर दिया गया है। साथ ही उनका कार्य आरंभ हो गया है। तो उसे नहीं रोका जाएगा। लेकिन जिनका वर्क आर्डर जारी नहीं हुआ है और कार्य प्रारंभ नहीं किया गया है। तो उसका कार्य नहीं होगा। निर्माण कार्य पूर्ण होने पर यदि भुगतान नहीं किया गया है तो उसका भुगतान किया जा सकता है।जिलाधिकारी ने बताया कि किसी भी शासकीय भवन पर किसी प्रकार की चुनाव से संबंधित सामग्री नहीं लगाई जा सकती है। यदि किसी के निजी भवन में अनुमति लेने के बाद ही प्रचार सामग्री लगाई जा सकती हैं। कंट्रोल रूम सक्रिय कर दिये गए है। सभी टीमें एक्टिव की गई है। नियमित जांच के लिए टीमें गठित की गई है। निगरानी के लिए आठ टीमें गठित की गई है। वीडियो अवलोकन टीम, लेखा टीम बनाई गई है। 12 उडन दस्ते बनाये गए है। 1950 टोल फ्री नंबर सक्रिय कर दिया गया है। इवीएम मशीनों का कंट्रोल रूम तैयार की गई है।जिले में 19500 दिव्यांग मतदाताओं को मतदान कराने के लिए आयोग ने पिक एंड ड्राप के लिए व्यवस्था कराने को कहा गया है। इसके लिए सेक्टर मजिस्ट्रेटों को लगाया गया है। बंगाली मतदाताओं के नाम शामिल किये जाने के बारे में पूछे गए प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि जिनके पास वैध दस्तावेज होंगे उनको मतदाता बनाया जाएगा।पुलिस अधीक्षक मनोज सोनकर ने बताया कि जिले में 22 मतदान केंद्र बर्र्नेवल तथा 142 क्रिटिकल मतदान केंद्र है। जिले में 11626 शस्त्र लायसेंसों में 1600 शस्त्र जमा करा दिये गए है। अब तक चार हजार लीटर अवैध शराब बरामद की गई। सौ सैक्टर अधिकारी बनाये गए है। 2014 के अनुसार ही सशस्त्र बल मिलेगा। 61 स्कूलों में फोर्स को ठहराने की व्यवस्था की गई है। नेपाल दो बैरियर तथा जिला पुलिस प्रशासन आठ अंतर्राष्ट्रीय बैरियर और 34 अंतरजनपदीय बैरियर बनाये गए है।वार्ता में उपजिला निर्वाचन अधिकारी ब्रज किशोर, एसडीएम सदर सौरभ दुबे, एसडीएम बीसलपुर वंदना त्रिवेदी, एसडीएम अमरिया और एसडीएम पूरनपुर चंद्रभानु सिंह भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

3 × five =